NCC Full Form in Hindi – Full Form Of NCC | NCC क्या है ?

NCC Full Form in Hindi – Full Form Of NCC | NCC क्या है ? NCC Ka Full Form Kya Hota Hai | NCC Full Form Meaning In Hindi- National Cadets Corps

NCC का फुल फॉर्म National Cadet Corps ( नेशनल कैडेट कॉर्प्स ) होता है। जिसे हिंदी में ” राष्ट्रीय सैनिक छात्र दल ” कहते हैं। नेशनल कैडेट कॉर्प्स का ही छोटा रूप NCC होता है यह एक ऐसी troop होती है cadets कि जिन्हें भविष्य के लिए trained किया जाता है।

  • हमारे व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें  —   Click Here kosi study
  • Telegram Group  – Click Here 

NCC Full Form in Hindi

Join Group

NCC Full Form in Hindi

जैसा कि हमने ऊपर जाना है NCC full form का फुल फॉर्म National Cadet Corps यानी राष्ट्रीय सैनिक छात्र दल होता है। यह एक Indian Military Cadet Corps होती है। NCC अपने लिए Cadets recruit करता है जो High School, Colleges और Universities से आते हैं। वह भी पूरे देश भर से। जिसमें cadets को basic military training दी जाती है छोटे arms और parades करने के लिए।

NCC क्या है- NCC full form

NCC को बनाया गया है National Cadets Corps Act के अंतर्गत सन 1948 में जिसका मूल्य लक्ष्य एक trained future manpower बनाना था, जिन्हें बाद में।ndian Army Force में बतौर civil services में दाखिल किया जा सके। NCC( नेशनल कैडेट कॉर्प्स ) जिसमें छात्र व छात्राओं को भविष्य के लिए ट्रेन किया जाता है। इसमें NCC के Cadets को वह सभी चीजें सिखाई जाती है जो किसी army training के दौरान सिखाया जाता है।

वही NCC Cadets को हमेशा first preference प्रदान किया जाता है। Armed Force में क्योंकि उन्हें इस ट्रेनिंग के बारे में पहले से पता होता है। साथ ही passed out cadets में वह personality होती है , जो force में जरूरत होती है।

राष्ट्रीय कैडेट कॉप्स भारत (National Cadets Corps) में एक स्वैच्छिक संगठन है यह संगठन मुख्य रूप से पूरे भारत में हाई स्कूल,कॉलेज एवं यूनिवर्सिटी से cadets की भर्ती करती है। साथ ही छोटे हथियारों एवं परेड में बुनियादी सेंड प्रशिक्षण देने का काम करती हैं।

NCC Full Form-  की स्थापना कब हुई थी

NCC की स्थापना भारत में आजादी के समय के बाद 16 अप्रैल 1948 को पंडित हरदया कुंज रूप की अगुआई में की गई थी और इसे उजागर 15 जुलाई 1948 में किया गया था। सबसे पहले इसकी शुरुआत 1666 ईस्वी में जर्मनी में किया गया था। जिसका श्रेय गवर्नमेंट ऑफ यूनाइटेड किंग्डम को दिया जाता है। जब 1948 में NCC की स्थापना भारत में हुई थी तब इसका मुख्यालय दिल्ली में था और आज वर्तमान में भी इसका मुख्यालय दिल्ली में ही है।

NCC का लक्ष्य ” मोटो ” 

NCC का मुख्य लक्ष्य सेना को सहायता प्रदान करना है। जिसमें NCC कई हद तक सफल भी हुई है। NCC की tagline के लिए 11 august 1978 से चर्चा शुरू हो गई थी। NCC की अलग-अलग टैगलाइन जैसे कर्तव्य , एकता और अनुशासन जैसे tagline का चुनाव करना था। बाद में 12 अक्टूबर 1980 को सीएसी की 12वीं बैठक में उन्होंने एकता और अनुशासन को NCC के आदर्श वाक्य के रूप में चुना और घोषित किया। NCC का लक्ष्य युवाओं में अनुशासन, भाईचारा जैसे गुण को बढ़ाना है।

NCC के जरिए सैन्य बलों में शामिल होने भी NCC का एक फायदा है। NCC देश की सबसे बड़ी एकजुटता ताकतों में से एक बनने का प्रयास करता है। जो देश के विभिन्न हिस्सों के युवाओं को एक साथ लाता है और उन्हें राष्ट्र के एकजुट और अनुशासित नागरिकों में ढलता हैं।

NCC झंडा

NCC के झंडे को 1954 ईस्वी में डिजाइन किया था। यह एक तिरंगा झंडा है। जिसमें तीन रंग मौजूद है। वे तीन रंग लाल , नीला और आसमानी है। जिसमें लाल रंग सेना का प्रतिनिधित्व करता है , नीला रंग नौसेना का प्रतिनिधित्व करता है और आसमानी रंग वायु सेना का प्रतिनिधित्व करता है। केंद्र में कमल की माला से गिरे तीन अक्षर में NCC है , यानी झंडे के बीच में बड़े अक्षरों से NCC लिखा हुआ है। झंडे में तिरंगे के नीचे NCC का टैगलाइन लिखा हुआ है “एकता और अनुशासन”।

NCC के लिए आयु सीमा ( Age।imit) 

NCC में के पहले भाग में आपको खुद को enroll करना चाहिए जिसमें “A” सर्टिफिकेट प्राप्त होते हैं। वहीं दूसरी भाग में आप enroll कर सकते हैं। जिसमें आपको ” B और C ” सर्टिफिकेट प्राप्त होते हैं। NCC में 2 वर्षों के लिए “Aसर्टिफिकेट” पाने के लिए आपकी आयु 13 से 17 वर्षों के बीच होनी चाहिए। वही “B और C सर्टिफिकेट” के लिए आपको NCC का हिस्सा 3 वर्षों के लिए होना होगा जिसमें आपकी आयु सीमा 19 से 24 वर्षों के बीच होनी चाहिए।

NCC में दाखिल होने के लिए HEIGHT

NCC में दाखिल होने के लिए पुरुषों की मिनिमम हाइट करीम 157.5 सेंटीमीटर होनी चाहिए वहीं महिलाओं की मिनिमम हाइट करीब 152 सेंटीमीटर होने चाहिए।

NCC DAY कब मनाया जाता है? 

NCC Day प्रतिवर्ष नवंबर महीने के चौथे रविवार को मनाया जाता है।

NCC का मुख्यालय कहां स्थित है? 

NCC का मुख्यालय दिल्ली में स्थित है। भारत के सभी सेना चाहे वह थल , वायु और जल सेना हो सभी के मुख्यालय दिल्ली में ही स्थित है।

NCC के दूसरे फुल फॉर्म

  • NCC – Network Control Center
  • NCC – National Communications Coordinator
  • NCC – National Constitution Center
  • NCC – Network Color Code
  • NCC – Nikko Cordial Corporation
  • NCC – National Community Church
  • NCC – National Capital Commission
  • NCC – Navigation Control Center
  • NCC – Niigata Computer College
  • NCC – National Certified Counselor
  • NCC – National Collaborating Centre
  • NCC – National Certification Corporation
  • NCC – Newcastle City Council
  • NCC – Naval Construction Contract
  • NCC – National Cancer Coalition
  • NCC – Network Coordination Centre
  • NCC – National City Corporation
  • NCC – National Construction Council
  • NCC – No Credit Card
  • NCC – National Council of Churches

NCC जॉइन कैसे करें? 

वैसे तो जो भी NCC के सदस्य कैंडिडेट होते हैं। वह किसी न किसी स्कूल या कॉलेज के छात्र होते हैं। जिसके माध्यम से वह अपने टीचर्स से संपर्क करके NCC में JOIN करते हैं। शिक्षक के द्वारा ही कैंडिडेट को NCC मे join होने में मदद मिलती है। इसमें एक छोटा सा फिजिकल टेस्ट होता है। जिसके लिए एक फॉर्म भी भरना पड़ता है। उसके बाद NCC ट्रेनिंग क्लास शुरू हो जाती है।

 NCC को दो भागों में बांटा गया है। पहला जूनियर डिवीजन दूसरा सीनियर डिवीजन इनमें से किसी भी डिवीजन को आयु और क्लास के अनुसार ज्वाइन करना होता है।

NCC की तैयारी कैसे करें

NCC की तैयारी भारत में स्कूल और कॉलेजों के छात्राओं को कराई जाती है। NCC बहुत ही अनुशासित और देशभक्त नागरिकों में देश के युवा पीढ़ी को सवारने में लगे हुए हैं। थलसेना , नौसेना और वायुसेना किसी भी सेना में आप NCC की तैयारी करने के बाद शामिल हो सकते हैं। इसमें आपको विशेष छूट भी प्रदान की जाती है। NCC से जुड़ने वाला व्यक्ति को मिलिट्री सेना से जुड़े सभी तरह की ट्रेनिंग प्रदान की जाती है। अगर आप सेना में भर्ती होना चाहते हैं तो आप NCC की ट्रेनिंग अवश्य करें। इससे आपको आगे आसानी होती है क्योंकि इसमें इससे जुड़ी हर Training सिखाई जाती है।

NCC में आपको ग्राउंड लेवल की ट्रेनिंग yदी जाती है। जिसमें गांव में कैंप लगाया जाता है। गांव में NCC कैंप लगाने का खास मकसद बच्चों को कैंप में बुलाकर उनको ट्रेनिंग देता देना होता है। NCC को एक त्रिकोणीय सेवा संगठन माना जाता है। जिसमें थल सेना , वायु सेना , जल सेना , तीनों सेवाएं शामिल होती है।

NCC में ट्रेनिंग करते समय बच्चों को छोटे हथियारों को चलाने की ट्रेनिंग दी जाती है। साथ ही देशभक्ति के प्रति प्रेम करना और अनुशासन में कैसे रहे यह सब बातें बताई जाती है। असल में NCC एक बहुत ही बड़ा और अच्छा यूनिट है। जो लगातार हमारे देश में बच्चों के भविष्य संवारने का काम कर रहा है। और भारत के युवा पीढ़ी को देशभक्ति की भावनाओं को जगा रहा है।

इसका खास मकसद अनुशासन और एकता है। जो इसके joining में सबसे पहले सिखाई जाती है।

Types of NCC Certificates ( एनसीसी प्रमाण पत्रों के प्रकार )

NCC के छात्रों की ट्रेनिंग पूरी होने के पश्चात उन्हें तीन तरह के सर्टिफिकेट दिए जाते हैं जो इस प्रकार है:-

  • एनसीसी “A” सर्टिफिकेट
  • एनसीसी “B” सर्टिफिकेट
  • एनसीसी “C” सर्टिफिकेट

एनसीसी “A” सर्टिफिकेट 9th ,10th कक्षा के छात्रों को दिया जाता है। जो 2 वर्ष का प्रशिक्षण पूरा करते हैं जिसे हम जूनियर डिवीजन / जूनियर विंग कह सकते हैं।

एनसीसी “B” सर्टिफिकेट हाई स्कूल तथा उच्च कॉलेजों के छात्रों को दिया जाता है। जिनका 2 वर्ष का प्रशिक्षण पूरा हो गया है जिसे हम सीनियर डिवीजन / सीनियर विंग कहते हैं।

उसी प्रकार एनसीसी “C” सर्टिफिकेट हाई स्कूल तथा उच्च कॉलेजों के छात्रों को दिया जाता है। जिनका 3 वर्ष का प्रशिक्षण पूरा हो गया है जिसे हम सीनियर डिवीजन / सीनियर विंग या SD/SW कह सकते हैं।

NCC के सर्टिफिकेट के फायदे 

  • NCC उम्मीदवार को राज्य और केंद्र सरकार की नियुक्तियों में प्प्राथमिकता दी जाती है।
  • जिन उम्मीदवारों के पास NCC के “C”सर्टिफिकेट होते हैं। उनके लिए इंडियन मिलिट्री एकेडमी में 64 सीटें रिजर्व होती है।
  • NCC उम्मीदवार के लिए नेवी कोर्स और एयरफोर्स में 10% की छूट हर कोर्स में होती है।
  • जिन उम्मीदवारों के पास NCC के “B”और ” C” सर्टिफिकेट है। उनको शॉर्ट सर्विस कमिशन में CDS की लिखित परीक्षा नहीं देनी पड़ती।

NCC का इतिहास

यदि हम NCC के इतिहास की बात करें तो 1947 में जब हमारे भारत देश को आजादी मिली थी तब यह एहसास हुआ था कि हमारे देश में सेना की मात्रा बहुत कम है। तब पंडित हृदयनाथ कुंजरु ने सुझाव दिया कि देश में एक राष्ट्रीय स्तर का  सन्या छात्र संस्था होना चाहिए और पंडित हृदयनाथ गुंज्रु जी ने के इस सुझाव को मध्य में रखते हुए 16 अप्रैल 1948 को कुल 20,000 छात्रों के साथ National Cadets Corps की स्थापना की। लेकिन आज के समय की बात करें तो यह राशि बढ़कर 1.3 मिलियन से अधिक हो गई है।

CONCLUSION

हमें उम्मीद है कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी। इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ताकि वह भी इस जानकारी को प्राप्त कर सके। साथ ही इससे जुड़े जो भी सवाल आप मन में हो आप Comment Box में जरूर SMS करें।

Thank u for visiting this page😃

Recent Updates

शिक्षा से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी सबसे पहले पाने के लिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप को ज्वाइन करें

  • हमारे व्हाट्सएप ग्रुप को अभी जॉइन करें👉👉 Click Here kosi study
  • Telegram Group  – Click Here 

Important।inks

Home Page Kosi Study
Apply Start Date 10 May 2022
Apply।ast Date 27 May 2022
Online apply Click Here kosi study
Notification Click Here kosi study
Official Website Click Here
Join Our Telegram Group Click Here
Join Group

Leave a Comment